Breaking News :

वीडियो : ग्रामीण परिवेश को दर्शाता एक चित्रगीत ‘गुड्डू का बाबा टोटगा पड्यां छिन’ दर्शकों को खूब पसंद आ रहा है।

Video : संजू सिलोड़ी और अदिति उनियाल की जुगलबंदी देख दर्शक बोले मस्त!! जबरदस्त !!

बार -त्यौहार औणी रे जांणी कुतग्यली बॉय की “हे मेरी स्वाणी” म्यूजिक वीडियो रिलीज़ !

बाडुली २०19 के लिये नरेन्द्र सिंह नेगी और किशन महिपाल ने साथ दी आवाज़ – होगा बड़ा धमाल

मसूरी में होली मिलन कार्यक्रम में प्रीतम भरतवाण और मीना राणा ने शमा बाँधा

आप भी देखें भोले बाबा के भजन नाची गैना मेरा भोले बाबा पर झूमता है पूरा उत्तराखण्ड -1 मिलियन लिस्ट में शामिल

एक साल पहले हुई थी मेजर विभूति की शादी | उत्तराखंड का एक और लाल वीर गति को प्राप्त – नमन

परदेश एक अनकही कहानी देखें इस शानदार विडियो को – आप भी कहोगे वाह

Pardesh The Untold Story

परदेश एक अनकही कहानी
उत्तराखंड संगीत की दुनिया में एक वीडियो ऐसा भी देखने को मिला है जिसकी रूप रेखा फिल्मांकन परदेश में ही हुआ है यानी उत्तराखंडी सिनेमा जगत में पहला गीत जिसे पहाड़ की वादियों से दूर कनाडा में शूट किया गया है। अपने पाठकों को इसका परिचय कराना बेहद जरुरी था इसीलिए आपके सामने परदेश गीत की पूरी रूपरेखा कैसे तैयार की गई ,क्या था ? इसका मकसद इसके बारे में ये लेख पढ़कर आपको लग जाएगा और काफी हद तक अंदाजा भी हो जायेगा कि उत्तराखंड संगीत अब किसी से भी पीछे नहीं हैं।
PARDESH (THE UNTOLD STORY )
गीत की कहानी लिखी है कपिल गौड़ ने और निर्देशन में भी अहम् भूमिका निभाई है , वीडियो के माध्यम से दिखलाया गया है कि एक युवक अपने घर से दूर विदेश मेँ नौकरी के सिलसिले में कार्यरत है जब परदेश शब्द से ही प्रतीत होता है जब देश ही पराया है तो वहां भला कौन अपना होगा ऐसे में अकेलापन महसूस तो होगा ही , उसे अपने घर ,गांव और अपनी माँ की याद आना लाजमी है।
बस इसी अकेलेपन को गीत के माध्यम से फिल्माया गया है जो कि दर्शकों को अपनी और स्वतः ही आकर्षित कर देता है।
पहाड़ में कागा यानी (कौवे) को पित्रों के रूप में जाना जाता है और वो जब भी हमारे घरों के आसपास दिखया ते हैं मानो प्रतीत होता है कोई सन्देश लेकर आए हैं परदेश गीत की भी पहली कड़ी यहीं से शुरू होती है “बोल मेरा कागा रे क्या लाई रैबार, कन मेरो कुटुंब परिवार ,कखी मेरी माँजी ता नी बीमार।
(बोल हे संदेशवाहक रूपी कागा आज तू क्या सन्देश लेकर आया है , मेरे घर परिवार में सब कैसे हैं ,कहीं घर में मेरी माँ तो बीमार नहीं है)
कागा को सम्बोधित करते हुए कहते हैं हे कागा ये रैबार (सन्देश) मेरी माँ तक जरूर पहुँचाना जो हर पल मेरा रास्ता निहारती रहती है ,उनसे कहना देर होगी पर एक दिन जरूर लौट आऊंगा तेरे पास।
और अपनी माँ की यादों में खो जाते हैं शिवम् सकलानी जो कि मुख्य भूमिका में हैं और उनके साथ हैं हिमानी बहुगुणा और संध्या गौड़। इस गीत के निर्माता शिवम् सकलानी हैं जबकि अपनी शिवम् भट्ट ने इस शानदार गीत को अपनी आवाज दी है और सागर कांडा ने कैमरे में अपना सहयोग दिया है। इसके संगीतकार या यूँ कहें मिक्सिंग मास्टर गुंजन डंगवाल हैं ये गीत गुंजन डंगवाल के ही यूट्यूब चैनल Mgv Digital पर रिलीज हुआ है ।

उत्तरखंड को वीडियो के माध्यम से सन्देश पढ़िए ये पोस्ट
“आंदि जांदी सांस ” एक गीत नहीं उत्तराखंड प्रवासियों को सन्देश

वीडियो के कुछ दृश्य आपके हृदय को जरूर छू जाएंगे , कि कैसे सब कुछ होने के बाद भी युवक की आँखों में आंसू हैं ,और माँ की ममता को तो कोई क्या ही बयां कर पायेगा पर फिर भी वीडियो के माध्यम से पूरी कोशिश की गई है की जितनी दूर परदेश में बेटे को याद आ रही है उससे कहीं ज्यादा एक माँ अपने घर में उसकी याद में हर घडी रोती रहती है।
गायन , संगीत ,फिल्मांकन और निर्देशन हर नजरिए से बहुत ही लाजवाब बना हुआ है ये वीडियो अब देखने वाली बात ये है कि दर्शकों को ये प्रयास पसंद आता है या नहीं।

अन्य गढ़वाली गीतों की समीक्षा पढ़िए :

रेशमा छोरी 1 मिलियन क्लब में शामिल।

रेशमा छोरी गीत बना युवाओं की पहली पसंद अब तक यूट्यूब पर मिले 1 मिलियन से अधिक व्यूज

रचिता कुकरेती जुयाल की एक बार उत्तराखंड संगीत जगत में वापसी दिखी स्वर्गीय पप्पू कार्की के गीत यसि जुडी तेरी माया के वीडियो सॉन्ग में लम्बे अरसे बाद अमित भट्ट की भी शानदार वापसी

यसी जुडी तेरी माया से रचिता कुकरेती ने की वापसी – स्वर्गीय पप्पू कार्की ने दी है आवाज़

Hillywood News
Report by
Rakesh Dhirwan

Facebook Comments

Hilly Wood

Read Previous

“आंदि जांदी सांस ” एक गीत नहीं उत्तराखंड प्रवासियों को सन्देश

Read Next

उत्तराखंड में पलायन की स्थिति को बयां करता गीत “पीड़ा मेरा पहाड़ की” देखिये क्या है इसमें खास

Leave a Reply

Your email address will not be published.